हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय में आपका स्वागत है

जैव रसायन विभाग

हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल यूनिवर्सिटी

एक केंद्रीय विश्वविद्यालय

अनुसंधान

हमारा शोध मनुष्य से रोगाणुओं तक सभी सेलुलर जीवन के मौलिक आधार से संबंधित प्रश्नों की एक विस्तृत श्रृंखला को संबोधित करता है। यह कार्य प्रोटीन और न्यूक्लिक एसिड की संरचनाओं और कार्यों को समझाता है, और ऐसा करने में कई मानव रोगों के तंत्र को संबोधित करता है। संकाय सदस्यों ने कई अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय शोध पत्र प्रकाशित किए हैं और विभिन्न सेमिनारों / कार्यशालाओं / सम्मेलनों में भाग लिया है। विभाग के संकाय सदस्य अनुसंधान के निम्नलिखित क्षेत्रों में सक्रिय रूप से लगे हुए हैं:

(a) कैंसर और मधुमेह की इम्यूनोथेरेपी।

(b) संक्रामक रोगों के सेलुलर और आणविक इम्यूनोलॉजी

(c) रोगाणुरोधी प्रतिरोध

(d)  पौधों में अजैविक और जैविक तनाव

(e) गढ़वाल के उच्च ऊंचाई वाले पौधों के औषधीय गुण।

विभाग ने अच्छी तरह से बायोकैमिस्ट्री और आणविक उपकरण की सुविधाओं की स्थापना की है जैसे कि सॉफ्टवेयर के साथ एलिसा रीडर, डबल बीम यूवी-विजिबल स्पेक्ट्रोफोटोमीटर, कैमरा और सॉफ्टवेयर अटैचमेंट के साथ उल्टे चरण कंट्रास्ट माइक्रोस्कोप (तेल विसर्जन के साथ 100X), CO2 संलग्नक, बीओडी इनक्यूबेटर, कूलिंग सेंट्रीफ्यूज, ट्रांसिल्यूमिनेटर , लामिना वायु प्रवाह, आसवन संयोजन, आटोक्लेव, ओवन, डिजिटल वजन संतुलन आदि।

विभाग के पास पुस्तकालय पुस्तकों और इंटरनेट सुविधाओं का विशद संग्रह है।

Last Updated on 03/10/2019